July 5, 2022

Guidance24

Latest News and Blog Updates

मर्डर फिल्म का “भीगे होंठ तेरे ” गाना गाने वाले सिंगर कुणाल गांजावाला अभी क्या कर रहे हैं

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि जिस समय मर्डर फिल्म रिलीज़ हुई थी इसके गानों ने आग लगा दिया था उस समय बच्चे बच्चे से लेकर हर एक आदमी के जबान पर ये गाना चल रहा था कई सारे हिट गाने देने के बाद कुणाल गांजावाला के गाने अब बहुत कम ही आ रहे हैं या बिलकुल न के बराबर ही आते हैं आखिर ऐसा कारण क्या है कि आज बॉलीवुड इंडस्ट्री में कुणाल गांजावाला को बहुत ही काम मिल पारहा है |

अक्सर होता क्या है सिंगर हों या अभिनेत्री बॉलीवुड में बहुत जल्दी ही सफलता मिलती भी है और चढ़ता सूरज बहुत जल्दी ही अस्त भी होने लगता है हलाकि बिलकुल ऐसा भी नहीं है कुणाल के साथ इन्होने अभी अपना youtube चैनल लांच करके भी उसपे गाने अपलोड करते रहते हैं आज भी उतनी लगन और निष्ठा से गाते हैं लेकिन बड़ी म्यूजिक प्रोडक्शन कंपनी न मिल पाने के कारण उतना लोगों को पता चल नहीं पाता है | अभी हाल ही में इन्होने ” पानीपत ” मूवी में एक गाना गाया था |

कुणाल गांजावाला बायोग्राफी

14 अप्रैल 1972 को कुणाल का जन्म महाराष्ट्र के पुणे शहर में हुआ था. घर में कला का माहौल था. इनके पिता हारमोनिका प्लेयर थे. बहन भरतनाट्यम में निपुण थीं. लेकिन कुणाल स्कूल टाइम में आर्ट फ़ील्ड में नहीं जाना चाहते थे. बल्कि पढ़ लिख कर सी.ए बनना चाहते थे. सिंगर बनने का ख्याल तो ज़हन में भी नहीं था. स्कूल खत्म कर कुणाल कॉलेज पहुंचे. वहां कॉलेज फंक्शन में पहली बार स्टेज पर गाया. तालियां पड़ीं तो रेगुलर कॉलेज फ़ेस्टिवल्स में गाना शुरू कर दिया और कई इंटर कॉलेज कम्पटीशन जीते.

कुणाल अब सिंगिंग को करियर बनाने के बारे में विचार करने लगे थे. चूंकि पिता पहले से संगीत से जुड़े हुए थे, तो उन्होंने भी कुणाल को प्रोत्साहन दिया. जिसके बाद कुणाल ने भारतीय विद्या भवन के सुधीन्द्र भौमिक से संगीत की शिक्षा ली. संगीत शिक्षा पूरी कर कुणाल काम की तलाश में लग गए.

कुणाल की पत्नी गायत्री अय्यर भी सिंगर हैं. गायत्री ने ‘माय दिल गोज़ उम्म’, ‘बेईमान मोहब्बत’ जैसे बहुत से फ़िल्मी गाने गाए हैं. दोनों की एक परफॉरमेंस देखते चलें.

कुणाल ज़ी के शो ‘सारेगामापा’ के पहले सीज़न का हिस्सा रहे. इस शो के बाद कुणाल म्यूजिक कम्पोज़र और डायरेक्टर रंजीत बरोट के साथ काम करने लगे. रंजीत बरोट इंडस्ट्री में बड़ा नाम थे. लिहाज़ा उनके साथ काम करते हुए कुणाल की मुलाकात ए आर रहमान, शंकर महादेवन, अनु मलिक से अक्सर होने लगी. रंजीत बरोट की रेपुटेशन की बदौलत ही कुणाल को उनका पहला म्यूज़िक प्रोजेक्ट मिला.

90s का दौर था. इंडिया का कायाकल्प हो रहा था. कोका कोला, पेप्सी जैसे ब्रांड्स पनपते सैटेलाइट टीवी एरा में विज्ञापनों के सहारे इंडियन मार्केट कब्ज़ा रहे थे. बच्चों के बीच बढ़ती सॉफ्टड्रिंक्स की खपत को रोकने और दूध पीने को बढ़ावा देने के लिए NDDB (नेशनल डेरी डेवलपमेंट बोर्ड) ने ‘पियो दूध’ कैंपेन लॉन्च किया. सिंपल राइम स्कीम वाला एक जिंगल बनाया और गाने के लिए एक ऐसे सिंगर की तलाश शुरू की, जो अमेरिकन म्यूजिक से इन्फ्लुएंस हो रहे बच्चों को उसी स्टाइल में दूध का महत्व समझा पाए. ऐड मेकर्स की तलाश आकर खत्म हुई कुणाल गांजावाला पर. और यहां से कुणाल के सिंगिंग करियर की शुरुआत हुई.

बॉलीवुड में शुरुआत

कुणाल को बॉलीवुड में पहला ब्रेक मिला 2002 में आर्या बब्बर और अमृता राव की फ़िल्म ‘अब के बरस’ में. ये फ़िल्म, इसके गाने और आर्या बब्बर तीनों ही नहीं चले. लेकिन कुणाल को इस फ़िल्म के बाद कई फ़िल्मों में गाने के ऑफर आए. उनमें से एक रहा ‘साथिया’ का पॉपुलर ट्रैक ‘ओ हमदम सुनियो रे. ये गाना तो खूब चला लेकिन कुणाल को पहचान नहीं मिली. याद रखें चलने और पॉपुलर होने में फर्क होता है.

फ़िर साल 2004 में आई इमरान हाशमी और मल्लिका शेरावत की ‘मर्डर’. इसमें गाना आया ‘भीगे होंठ तेरे’. बस इस गाने के बाद कुणाल का करियर ‘वो ओ ओ ओ’ हो गया. इस गाने के लिए कुणाल को उस साल के ज़ी, आइफ़ा समेत अनेकों अवार्ड समारोह में बेस्ट प्लेबैक सिंगर का अवॉर्ड मिला.

‘भीगे होंठ’ के बाद अगर कुणाल का दूसरा कोई सबसे पॉपुलर गाना है तो वो है  ‘चन्ना वे घर आजा वे’. इस गाने की वीडियो में सब टीवी के शो ‘तेरा यार हूं मैं’ आने वाले सुदीप साहिर थे. ‘चन्ना वे’ के बोल लिखे थे संतोख सिंह ने. ये गाना रिलीज़ होने के कई सालों बाद तक भी पार्टी एंथम बना रहा था. ‘कांटा लगा’, ‘बेरी के बेर मत तोड़ो’ जैसे रीमिक्स गानों की झड़ी के बीच ‘चन्ना वे’ का क्रेज़ कहीं कम नहीं पड़ा.

आज के दौर में कुणाल अरिजीत सिंह को बेस्ट सिंगर मानते हैं. वो कहते हैं अरिजीत के अलावा बाकी सारे सिंगर्स एक जैसा साउंड करते हैं. फीमेल वॉइस में कुणाल नीति मोहन और शाल्मली खोलगड़े को आगे देखते हैं.

अब कहां हैं?

कुणाल ने 2020 में कोरोना कहर में सावधानी बरतने का संदेश देता ‘निकले तो निकल लोगे’ नाम से गाना रिलीज़ किया था. इस गाने के म्यूजिक वीडियो में मॉडल राय सिंघान फीचर्ड थे. कुणाल ने ये गाना 2020 लॉकडाउन के दौरान सीमित संसाधनों में शूट किया था. कुणाल ने इस गाने के प्रमोशन के दौरान एक चैनल से म्यूजिक इंडस्ट्री में होने वाले भेदभाव के बारे में भी बात की थी. कुणाल ने कहा था कि रिकॉर्ड्स लेबल्स मनमानी शर्तें सिंगर्स के आगे रखते रहते हैं. और जो उनकी ये शर्तें नहीं मानता उसका करियर खत्म हो जाता है. कई बार तो सिंगर्स के गाने की पेमेंट महीनों तक नहीं आती.

कुणाल गांजावाला अब अपना बिज़नेस करते हैं. उनके मुताबिक़ सिंगिंग लाइन से आप पर्याप्त पैसे नहीं कमा सकते हैं. प्लेबैक सिंगिंग फ़िल्म इंडस्ट्री में ‘ऑडियो’ पर उतना खर्चा नहीं होता है, जितना वीडियो पर होता है. लेकिन ऐसा भी नहीं है कुणाल ने संगीत से बिलकुल संन्यास ले लिया है. गायन भी करते रहते हैं. एक यूट्यूब चैनल खोल रखा है. इस पर गाने बनाकर अपलोड करते रहते हैं. 2018 में कुणाल ने ग़ज़ल और जैज़ को ब्लेंड करके कमाल का एक्सपेरिमेंट किया था. ऐसे ही कई म्यूजिकल प्रयोग आपको उनके चैनल पर मिल जाएंगे. फ़िल्म की बात करें तो 2019 में कुणाल का अर्जुन कपूर की ‘पानीपत’ फ़िल्म में ‘मन में शिवा’ नाम से गाना आया था.