19 July 2020 Current Affairs

* स्वास्थ्य मंत्रालय ने आवासीय परिसरों में कोविड देखभाल केंद्र स्थापित करने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए।

* भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद बुजुर्गों में बीमारी और मृत्‍यु दर कम करने में बीसीजी वैक्‍सीन के प्रभाव का अध्‍ययन करेगा।

* जम्‍मू-कश्‍मीर प्रशासनिक परिषद स्‍थानीय निकायों के सभी निर्वाचित प्रतिनिधियों को 25 लाख रुपए का जीवन बीमा सुरक्षा प्रदान करेगी।

* ईरान के राष्‍ट्रपति ने कहा कि कोरोना वायरस से ईरान में दो करोड़ पचास लाख लोग संक्रमित।

* केन्‍द्रीय विधि और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, सरकार देश में शीघ्र डेटा सुरक्षा कानून लायेगी।

* कोरोना वायरस के सक्रिय और स्‍वस्‍थ हुए मरीजों का अंतर बढकर तीन लाख चार हजार से ज्‍यादा हुआ। मृत्‍युदर पहली बार दो दशमलव पांच प्रतिशत से कम हुई।

समाचार विस्तार से- 

* स्वास्थ्य मंत्रालय ने उन आवासीय इकाइयों के लिए दिशा-निर्देश जारी किये हैं जो अपने परिसर में छोटे स्‍तर पर कोविड देखभाल केन्द्र स्थापित करना चाहते हैं। दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि इन केन्द्रों में मामूली लक्षण और संदिग्ध लक्षण वाले निवासियों के साथ-साथ बिना लक्षण वाले संक्रमितों की देखभाल की जा सकेगी। दिशा-निर्देशों के अनुसार ये केन्द्र वरिष्ठ लोगों, दस वर्ष से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती और दूध पिलाने वाली महिलाओं और अन्य रोगों से ग्रस्त संक्रमितों के लिए नहीं होंगे, उन्हें समुचित कोविड अस्पतालों में भर्ती कराना होगा।

दिशा-निर्देशों में कहा गया है कि ये केन्द्र आवासीय परिसरों के सामुदायिक कक्ष, साझा उपयोग क्षेत्र या खाली फ्लैट में बनाए जा सकेंगे। इन केन्द्रों में प्रवेश और निकासी की अलग व्यवस्था और देखभाल करने वालों के लिए स्वच्छता उपायों का प्रबंध जरूरी है। बिस्तरों के बीच कम से कम तीन फुट की दूरी होनी चाहिए और चादर, तौलिये और तकिये कवर 72 घंटे तक एक डिस्पोजिबल बैग में रखने के बाद धोए जाने चाहिए। दरवाजे की कुंडी, लिफ्ट के बटन, रेलिंग और बेंच इत्यादि को नियमित रूप से संक्रमण मुक्त किया जाना जरूरी है।

दिशा-निर्देशों के अनुसार श्वास विशेषज्ञ इन केन्द्रों का नियमित निरीक्षण करेंगे और आवश्यक मार्ग दर्शन देंगे।

———-

* भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद- आईसीएमआर बुजुर्गों व्यक्तियों में कोविड-19 के कारण बीमारी और मृत्यु दर को रोकने में बीसीजी वैक्सीन के प्रभाव का मूल्यांकन करने के लिए एक अध्ययन करेगा। इससे देश में कोविड -19 हॉटस्पॉट में रहने वाले 60 से 95 वर्ष की आयु के लोगों पर अध्ययन किया जाएगा।

यह अध्ययन छह राज्यों – तमिलनाडु, महाराष्ट्र, गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान और दिल्ली में किया जाएगा।

चेन्नई स्थित राष्ट्रीय क्षय रोग अनुसंधान केंद्र-एनआईआरटी इस अध्ययन की अगुआई कर रहा है। इस अध्ययन में यह देखा जाएगा कि क्या बीसीजी का टीका कोरोना वायरस के संक्रमण और इसके बड़ी आयु वर्ग के लोगो में फैलाव को रोक सकता है।

अध्ययन में उसी बीसीजी वैक्सीन का उपयोग किया गया है जिसे देश में राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के एक भाग के रूप में नवजात शिशुओं को लगाया जाता है।

———-

* जम्मू-कश्मीर प्रशासनिक परिषद ने केंद्र शासित प्रदेश में स्थानीय निकायों के सभी निर्वाचित सदस्यों को 25 लाख रूपये की बीमा सुरक्षा प्रदान करने का निर्णय किया है। आतंक से जुडी किसी भी वारदात में मृत्यु होने की स्थिति में राज्य की सभी पंचायतों और स्थानीय निकायों के सदस्यों के मामले में यह बीमा लाभ दिया जाएगा। इस निर्णय का उद्देश्य ऐसे सभी निर्वाचित सदस्यों को सुरक्षा देकर राज्य में जमीनी स्तर पर लोकतंत्र को मजबूती प्रदान करना है, जिन्हें लगातार आतंकवादियों से खतरा बना हुआ है। उपराज्यपाल जी.सी. मुर्मू की अध्यक्षता में परिषद की हाल में हुई बैठक में सभी खंड विकास समितियों के अध्यक्षों, सरपंचों, पंचों और सभी स्थानीय निकाय सदस्यों को बीमा सुरक्षा देने का निर्णय लिया गया। सरकार के प्रवक्ता के अनुसार इस बीमा सुरक्षा से आतंकवादी घटना में मृत्यु होने पर निर्वाचित प्रतिनिधियों के परिवारों को आर्थिक सहायता देना सुनिश्चित हो सकेगा। साथ ही उन्हें ऐसी स्थिति में आर्थिक समस्या और निर्धनता का सामना नहीं करना पड़ेगा और इससे उनकी भोजन, शिक्षा और स्वास्थ्य जैसी बुनियादी आवश्‍यकताओं की पूर्ति भी हो सकेगी।

———- 

* ईरान के राष्‍ट्रपति हसन रूहानी ने कहा है कि कोरोना वायरस से उनके देश में दो करोड 50 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं। देश के वायरस रोधी कार्यबल के साथ एक वर्चुअल बैठक में उन्‍होंने कहा कि ईरान में संक्रमितों का आंकडा तीन करोड 50 लाख तक पहुंच सकता है और ऐसे में देश में प्रतिरोधक क्षमता विकसित करने की आवश्‍यकता है। रूहानी ने यह भी कहा कि ईरान को पिछले पांच महीनों की तुलना में अस्‍पतालों में उपचार की व्‍यवस्‍था दोगुनी करने के लिए तैयार रहना होगा। बाद में रूहानी के संचार उप-प्रमुख ने स्‍पष्‍ट किया कि दो करोड 50 लाख संक्रमितों का अर्थ है ऐसे व्‍यक्ति जो वायरस का सामना करने के बाद पूरी तरह प्रतिरक्षा क्षमता विकसित कर चुके हैं।

यह पहला अवसर है जब किसी वरिष्‍ठ ईरानी अधिकारी ने बताया है कि देश कोविड-19 को प्रतिरक्षा क्षमता के जरिये हराने का प्रयास कर रहा है।

संक्रमितों की बढती संख्‍या को देखते हुए अधिकारियों को अधिक संक्रमण वाले प्रांतों में फिर से कडे प्रतिबंध लगाने पडे़ हैं, जहां अप्रैल में प्रतिबंध हटाये गये थे। ईरान में कोविड संक्रमण का पहला मामला फरवरी में सामने आया था। ईरान में पूर्णबंदी कभी लागू नहीं की गई, लेकिन मार्च में स्‍कूल बंद किये गये थे और सार्वजनिक सभाओं तथा प्रांतों के बीच यात्रा पर रोक लगायी गई थी।

———-

* मध्‍य प्रदेश में कोरोना महामारी के दौरान रेशम उद्योग सैकड़ों जनजा‍तीय परिवारों की आजीविका का माध्‍यम बन गया है। इससे वे आर्थिक रूप से सशक्त और आत्मनिर्भर बन रहे हैं।

मध्‍यप्रदेश में रेशम विभाग साल-भर में किसानों से पांच करोड़ रुपये के ककून खरीदकर धागा तैयार करता है। होशंगाबाद जिले के कई किसान परिवारों ने लॉकडाउन के दौरान करीब 25 हजार किलो ककून एकत्रित कर 60 लाख रुपये तक कमाए हैं। बनखेड़ी के एक किसान प्रकाश कुशवाहा ने बताया

एक एकड़ खेती से एक लाख रुपये से दो लाख रुपये की आमदनी प्राप्‍त हो जाती है, जिससे मेरे परिवार की आर्थिक स्थिति बहुत अच्‍छी हो गई है।

मध्य प्रदेश के अलावा बंगाल, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र सहित विभिन्न राज्यों के कारीगर और संस्थान होशंगाबाद से रेशम का धागा खरीदते हैं। होशंगाबाद के जिला रेशम अधिकारी शरद श्रीवास्तव ने बताया कि रेशम मुनाफे की खेती है।

जिले के लगभग ढाई सौ से तीन सौ किसानों ने रेशम कृमि पालन का कार्य किया है और इस अवधि में उनके द्वारा लगभग 25 हजार किलोग्राम कोकून का उत्‍पादन किया गया है, जिससे उन्‍हें लगभग 50-60 लाख रुपये का कोकून भुगतान किया गया है। उम्‍मीद करते हैं कि जिले के अधिक से अधिक किसान रेशम कृमि पालन योजना को अपनाएंगे और अपने एक्‍स्‍ट्रा सोर्स ऑफ इनकम खुद के गांव में खुद की जमीन से अर्जित करेंगे।

देश में 65 प्रतिशत रेशम विदेशों से आयात किया जाता है। किसानों को भरोसा है कि आत्मनिर्भर भारत योजना के तहत, हम देश में ही रेशम का सौ फीसदी उत्पादन कर सकते हैं। 

———-

* सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि केन्द्र सरकार देश की डेटा सम्‍प्रभुता के साथ किसी भी प्रकार का समझौता बर्दाश्त नहीं करेगी। कुछ दिन पहले ही सरकार ने चीन की 59 मोबाइल कंपनियों पर पाबंदी लगाई है। श्री रविशंकर प्रसाद ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिये ठाकुर प्रसाद स्मारक व्याख्यानमाला को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीयों से संबंधित डेटा भारत के लोगों की निजी संपत्ति है। उन्होंने कहा कि चीन के मोबाइल ऐप पर प्रतिबंध लगाए जाने से भारतीय कंपनियों और निर्माताओं को अवसर मिला है।

…………….

* स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज दिल्‍ली के एम्‍स में दिल्‍ली पुलिस के सहयोग से आयोजित प्‍लाज्‍मा दान अभियान का उद्घाटन किया। इस अवसर पर 26 पुलिसकर्मियों ने प्‍लाज्‍मा दान किया। डॉ. हर्षवर्धन ने प्लाज्मा दाताओं को प्लाज्मा वारियर्स बताते हुए कहा कि प्लाज्मा दान देश में एक आंदोलन के रूप में विकसित होगा और इसके दूरगामी प्रभाव होंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से स्‍वस्‍थ हो चुका व्‍यक्ति महीने में दो बार प्लाज्मा दान कर सकता है। प्‍लाज्‍मा देने से व्‍यक्ति में किसी प्रकार की कोई कमी नहीं आती।


प्‍लाज्‍मा दान में पुलिसकर्मियों की सराहना करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि अन्‍य लोग भी इनके योगदान से प्रेरित होकर इस अभियान में शामिल होंगे। उन्‍होंने बताया कि 60 केन्‍द्रों में 452 रोगियों पर प्‍लाज्‍मा का प्रयोग किया गया है और उनका आकलन किया जा रहा है।


डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि देश में कोरोना से स्‍वस्‍थ होने वालों की दर लगातार बढ़ रही है और मृत्‍युदर कम हो रही है। उन्‍होंने बताया कि स्‍वस्‍थ होने वालों की दर लगभग 63 प्रतिशत हो गई है। इससे जान गंवाने वालों की दर लगभग ढाई प्रतिशत है जो कि विश्‍व औसत से बहुत कम है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने बताया कि भारत में नमूनों की जांच की संख्‍या निरंतर बढ रही है। इस समय एक हजार दो सौ बासठ प्रयोगशालाओं में प्रतिदिन साढे तीन लाख से अधिक नमूनों की जांच की जा रही है।

…………….

* प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने अमरीकी कांग्रेस के सदस्‍य जॉन लुईस के निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया है। उन्‍होंने लुईस को नागरिक अधिकारों, अहिंसा और गांधीवादी मूल्‍यों के प्रणेता के रूप में याद किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि दिवंगत अमरीकी सांसद की विरासत लोगों को प्र‍ेरित करती रहेगी।

…………….

* पुद्दुचेरी विधानसभा का बजट सत्र कल उपराज्‍यपाल किरण बेदी के परंपरागत भाषण से शुरू होगा। मुख्‍यमंत्री वी नारायणसामी वर्ष 2020-21 का वार्षिक बजट प्रस्‍तुत करेंगे। वित्‍त मंत्रालय का कार्यभार भी मुख्‍यमंत्री के पास ही है। 21 जुलाई को राज्‍यपाल के अभिभाषण पर धन्‍यवाद प्रस्‍ताव पर चर्चा होगी। सभी विभागों से संबंधित विषय भी सदन में उठाए जाएंगे। समूचा विधानसभा परिसर संक्रमण मुक्‍त किया गया है।


कोविड की स्थिति को देखते हुए विधानसभा में आगंतुकों की अनुमति नहीं है और केवल निर्वाचित प्रतिनिधि और प्रशासन के वरिष्‍ठ अधिकारी ही सदन के भीतर आ सकेंगे। चुनिंदा मीडियाकर्मियों को भी सदन में आने की अनुमति दी गई है।

…………….

* केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि देश में कछुओं का पता लगाने और उनके बारे में जानकारी हासिल करने के लिए कुर्मा मोबाइल ऐप अनूठा माध्‍यम है। उन्‍होंने कहा कि देश की समृद्ध वनस्‍पतियों और जीव-जन्‍तुओं के संरक्षण में इस प्रकार के प्रयासों की महत्‍वपूर्ण भूमिका होती है।


मोबाइल ऐप्लिकेशन कुर्मा की शुरूआत इस वर्ष 23 मई को विश्‍व कछुआ दिवस के अवसर पर की गई थी। इसका उद्देश्‍य कछुओं के संरक्षण को बढ़ावा देना है। इससे इसके उपयोगकर्ताओं को कछुओं के बारे में आंकड़े एकत्रित करने और देशभर में इनके निकटतम राहत केन्‍द्रों की स्थिति की जानकारी मिलती है।

…………….

* केन्‍द्रीय ग्रृहमंत्री अमित शाह तथा सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने स्‍वतंत्रता सेनानी मंगल पांडे की जयंती पर श्रद्धांजलि दी। एक टवीट् में श्री शाह ने कहा कि मंगल पांडे 1857 की क्रांति के सूत्रधारों में से थे और उनकी देशभक्ति तथा बलिदान ने लाखों देशवासियों को स्‍वतंत्रता संग्राम में शामिल होने की प्रेरणा दी। श्री जावड़ेकर ने भी मंगल पांडे को भावभीनी श्रद्धांजलि दी।

…………….

* प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 6 करोड फॉलोअर के साथ ट्विटर पर दुनिया के शीर्ष पसंदीदा नेता बने हुए हैं। श्री मोदी के ट्विटर अकाउंट ने आज 6 करोड का आंकड़ा पार कर लिया, जिससे वे दुनियाभर में सबसे अधिक फॉलो किए जाने वाले भारतीय नेता के रूप में सामने आए हैं। श्री मोदी पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और उनके उत्तराधिकारी डोनाल्ड ट्रम्प के बाद कुछ वैश्विक नेताओं में शामिल हैं, जिन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर फॉलोअर के मामले में 6 करोड का आंकड़ा पार किया है।

…………….

* रेल मंत्रालय ने कहा है कि देश में मार्च, 2023 से निजी क्षेत्र की रेलगाडियां चलनी शुरू हो जाएंगी। मंत्रालय ने मीडिया में आए उस समाचार के बाद यह स्‍पष्‍टीकरण जारी किया है जिसमें कहा गया था कि यह रेलगाडियां मार्च, 2024 से चलाने का कार्यक्रम है। रेल मंत्रालय ने कहा कि मार्च, 2021 तक निविदाओं पर अंतिम फैसला किया जाएगा और इन ट्रेनों का संचालन मार्च, 2023 से शुरू होगा।

…………….

* सरकार ने कहा है कि कोरोना वायरस के सक्रिय संक्रमित व्‍यक्तियों की तुलना में स्‍वस्‍थ हुए मरीजों की संख्‍या बढकर तीन लाख चार हजार से अधिक हुई। देश में अब तक 6 लाख 77 हजार 423 लोग कोरोना संक्रमण से ठीक हो चुके हैं। ठीक होने वालों की दर बढकर 62 दशमलव आठ-छह प्रतिशत हो गई है। पिछले 24 घंटों में रिकॉर्ड 23 हजार 672 लोग ठीक हुए। देश में इस समय 3 लाख 73 हजार 3 सौ उनासी सक्रिय मामले हैं।


स्‍वास्‍थ्‍य और परिवार कल्‍याण मंत्रालय ने बताया कि पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमण के 38 हजार 902 मामले सामने लाने के बाद संक्रमित लोगों की कुल संख्‍या 10 लाख 77 हजार 618 हो गई है।


भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद-आई सी एम आर देश में लगातार जांच सुविधाओं को बढा रहा है। अब तक एक करोड 37 लाख 91 हजार 8 सौ उन्‍हतर नमूनों की जांच की जा चुकी हैं।


कोरोना वायरस के मामलों में सुधार की दर के लिहाज से शीर्ष पांच राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश हैं- लद्दाख, दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और अंडमान निकोबार द्वीप समूह जहां यह दर 73 प्रतिशत से ऊपर है। ऐसे 18 राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश हैं, जहां सुधार की दर राष्ट्रीय औसत 62.86 प्रतिशत की तुलना में बेहतर है। ठीक हुए कुल लोगों की संख्या के मामले में महाराष्ट्र सबसे ऊपर है, जिसके बाद तमिलनाडु और दिल्ली का नम्बर आता है। कुल सक्रिय मामलों में 66 प्रतिशत से अधिक मामले केवल महाराष्ट्र, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और उत्तर प्रदेश से हैं। पांच राज्य और केन्द्र शासित प्रदेश जैसे कि – मणिपुर, नगालैंड, सिक्किम, मिजोरम और अंडमान निकोबार द्वीप समूह ऐसे हैं जहां कोविड-19 के कारण एक भी मौत नहीं हुई है। 

—-

* सरकार ने कहा है कि देश में कोविड-19 महामारी से मरने वालों की संख्‍या पहली बार ढाई प्रतिशत से कम हो गई है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि केन्‍द्र और राज्‍यों तथा केन्‍द्र शासित प्रदेशों सरकारों के प्रभावी प्रयासों के कारण ऐसा संभव हो पाया है।


मंत्रालय ने कहा है कि प्रभावी कंटेनमेंट कार्य नीति, बड़ी संख्‍या में नमूनों की जांच और मानक क्लिनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल से मृत्‍युदर में कमी हुई है। केन्‍द्र, राज्‍यों तथा केन्‍द्रशासित प्रदेशों के दिशा-निर्देर्शों के तहत सरकारी और निजी क्षेत्र के संयुक्‍त प्रयासों से नमूनों की जांच की संख्‍या बढ़ायी गई हैं और अस्‍पतालों की बुनियादी सुविधाओं में विस्‍तार किया गया है।

—–

* केंद्र सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का लक्ष्य हासिल करने और किसान कल्याण को प्राथमिकता देते हुए अनेक कदम उठाए हैं। हाल में ही नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों के हित में तीन अध्यादेश जारी किए हैं।


कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य संवर्धन और सुविधा अध्यादेश 2020 का उद्देश्य ऐसा माहौल तैयार करना है जिसमें किसान और व्यापारी अपनी पसंद से खरीद बिक्री कर सकेंगे। दूसरा अध्यादेश किसान सशक्तिकरण और संरक्षण पर आधारित मूल्य आश्वासन और खेत सेवा अध्यादेश 2020 है। इसका उद्देश्य किसानों को प्रसंस्करणकर्ताओं, संग्रहणकर्ताओँ, थोक व्यापारियों, बड़े खुदरा कारोबारियों और निर्यातकों के समक्ष सशक्त बनाना है।


तीसरा अध्यादेश आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन से संबंधित है।

ये तीन ऐतिहासिक निर्णयों के माध्‍यम से कृषि बाजार और कृषि उत्‍पादों के व्यापार में सुधार आएगा। एफपीटीसी अध्यादेश का उद्देश्य एपीएमसी के एकाधिकार को समाप्त करना है और किसी को भी कृषि उपज की खरीद और बिक्री की अनुमति देना है। कृषि सेवाओं से संबंधित अध्यादेश के द्वारा अनुबंध की खेती को वैध बनाने के उद्देश्य से लाया गया है, ताकि कृषि भूमि के बड़े क्षेत्र में भी खेती की जा सके। आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन किसानों की आय बढ़ाने के दिशा में महत्‍वपूर्ण कदम हैं। इसके जरिए कोल्ड स्टोरेज के क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा मिलेगा। इन संशोधनों के जरिए किसानों और उपभोक्ताओं दोनों को फायदा होगा साथ ही कृषि उत्‍पादों के मूल्य में भी स्थिरता आएगी। 


नीति आयोग के सदस्य, रमेश चंद ने आकाशवाणी से कहा कि इन अध्यादेशों से किसानों को उचित दाम मिलेंगे और उनकी आय तेजी से बढ़ेगी।


इसका फोकस किसान की आय इंक्रीज करना ही है तीनों का चाहे वो एसेंसल कमोडिटी एक्‍ट हो प्राइवेट सेक्‍टर की बात कर रहा हो लेकिन मेन फोकस तीनों का यही है कि किसानों को यूनीलेटरल प्राइज मिले और उनकी आय में तेजी से वृद्धि हो।

समाचार पत्रों की सुर्खियों से- 

* लगभग सभी अख़बारों ने अयोध्‍या में राम मंदिर निर्माण के भूमि पूजन के लिए दो तिथियां तय करने की खबर को सुर्खियों में दिया है। हिन्‍दुस्‍तान लिखता है – राम मंदिर निर्माण अगस्‍त से, भूमि पूजन के लिए दो तिथियों का सुझाव।

* नवभारत टाइम्‍स ने पहले पन्‍ने पर बड़े अक्षरों में कोरोना संक्रमण से दिल्‍ली में एक लाख से अधिक लोगों के ठीक होने की खबर और स्‍वस्‍थ होने की दर को अहमियत दी है। वही अखबार लिखता है – दुनिया में पिछले 100 घंटे मे सामने आए दस लाख मामले। अखबारों ने दिल्‍ली की आवासीय इकाईयों की वेलफेयर एसोसिएशन की जिम्‍मेदारियों और उन्‍हें केन्‍द्र सरकार के निर्देश का भी जिक्र किया। राष्‍ट्रीय सहारा जहां एक ओर लिखता है कि अनुमान के अनुसार सितम्‍बर के मध्‍य में भारत कोरोना संक्रमण चरम पर पहुंच सकता है वहीं अखबार ने पहले पन्‍ने पर ही स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री के इस विश्‍वास को अहमियत दी है कि कोरोना के लिए वैक्‍सीन के विकास के सकारात्‍मक संकेत मिल रहे हैं।

* जनसत्‍ता ने राजस्‍थान के राजनीतिक घटनाक्रम से उपज रही परिस्थितियों को विस्‍तार से पहले पन्‍ने पर दिया है – पत्र लिखता है – राजस्‍थान ऑडियो टेप मामले में एसीबी ने भी दर्ज की प्राथमिकी, कांग्रेस की अंतर्कलह में नुकसान जनता को।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

20 July 2020 Current Affairs

Fri Jul 24 , 2020
1. मध्य प्रदेश में बने सोलर पावर प्लांट का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन कर दिया। यह एशिया की सबसे बड़ी सौर उर्जा परियोजना है। 750 MW के इस सोलर प्लांट से मध्य प्रदेश को ही नहीं बल्कि दिल्ली की मेट्रो तक को ऊर्जा मिलेगी। इस सौर पार्क (कुल क्षेत्रफल 1500 हेक्टेयर) के अंदर 250 मेगावट की तीन सौर इकाइयां स्थित हैं। प्रत्येक इकाई 500 हेक्टेयर भूमि पर स्थापित है। […]